You are currently viewing कार्बोहाइड्रेट क्या है, Carbohydrate kya hota hai

कार्बोहाइड्रेट क्या है, Carbohydrate kya hota hai

कार्बोहाइड्रेट क्या है?  

सामान्यतयः कार्बोहाइड्रेट ऊर्जा देने वाला तत्व है। इसका निर्माण कार्बन, हाइड्रोजन और ऑक्सीजन से मिलकर होता है। हमारे भोजन में पाए जाने वाले मुख्य कार्बोहाइड्रेट्स, मण्ड और शर्करा के रूप में उपस्थित होते हैं। यह ऊर्जा का सबसे सस्ता साधन है। अनाज, आलू चावल आदि में कार्बोहाइड्रेट होता है। 

कार्बोहाइड्रेट के प्रकार 

कार्बोहाइड्रेट मुख्यत: तीन प्रकार के होते हैं 

1) मोनोसैकेराइड्स  (Monosaccharide) 

यह सभी कार्बोहाइड्रेट्स में सबसे अधिक सरल होता है। इसका आधारभूत सूत्र (CH2O)n होता है। मोनोसैकेराइट्स के कुछ प्रमुख उदाहरण निम्नलिखित हैं 

ट्रायोस जैसे-ग्लिसरैल्डिहाइड 

टेट्रोस जैसे-इरेथ्रोस 

हेक्सोस जैसे-ग्लूकोस, फ्रक्टोस एवं ग्लैक्टोस 

2) डाइसैकेराइड (Disaccharide) 

यह मोनोसैकेराइड के दो अणुओं से मिलकर बना होता है। इसका आधारभूत सूत्र (C12H22O11) होता है। सुक्रोस, माल्टोस, लैक्टोस आदि डाइसैकेराइड्स के प्रमुख उदाहरण हैं। 

3) पॉलीसैकेराइड (Polysaccharide)

यह अनेक मोनोसैकेराइड्स अणुओं के मिलने से बनता है। इसका आधारभूत सूत्र (C6H11O5)n होता है। 

यह भी पढ़ें

सरल मशीन के प्रकार || Saral Machine ke prakar

कार्बोहाइड्रेट के कार्य

भोजन के एक अतिआवश्यक तत्व के रूप में कार्बोहाइड्रेट शरीर में विभिन्न महत्त्वपूर्ण कार्य करता है। शरीर के लिए कार्बोहाइड्रेट्स के कार्यों एवं उपयोगिता का संक्षिप्त विवरण इस प्रकार है 

1) ऊर्जा प्रदान करना 

इसका शरीर में सबसे अधिक महत्त्वपूर्ण कार्य, शरीर को विभिन्न कार्यों के लिए आवश्यक ऊर्जा देना है। यह ऊर्जा का उत्तम स्रोत है। एक ग्राम कार्बोहाइड्रेट से शरीर चार कैलोरी ऊर्जा प्राप्त कर सकता है। इससे शरीर को प्रत्यक्ष रूप से ऊर्जा प्राप्त होती है तथा यह शरीर में संगृहीत होकर भी आवश्यकता पड़ने पर ऊर्जा प्रदान करता है। 

कार्बोहाइड्रेट के प्रमुख स्रोत व मात्रा

स्रोत कार्बोहाइड्रेट की मात्रा/ग्राम/(100 ग्राम)
अनाज 63-79
दालें 56-60
कंदमूल (आलू, शकरकंद आदि)22-39
नट्स व तेल बीज 10-25
शक्कर 99.4
साबूदाना 87.1
गुड़ 95.0

2) प्रोटीन की बचत में सहायक 

भोजन में ग्रहण किया गया कार्बोहाइड्रेट्स शरीर में संगृहीत प्रोटीन की बचत में भी सहायक है। यदि हम पर्याप्त मात्रा में कार्बोहाइड्रेट ग्रहण करते हैं तो इससे शरीर को समुचित मात्रा में कैलोरी प्राप्त होती है अत: प्रोटीन की मात्रा अन्य कार्यों के लिए सुरक्षित रहती है। 

3) कैल्सियम के अवशोषण में सहायक 

लैक्टोस के रूप में कार्बोहाइड्रेट्स शरीर में कुछ बैक्टीरिया की वृद्धि में सहायक होता है । लैक्टोस शरीर में वैठत्यिठयम के अवशोषण में सहायक होता है। 

4) वसा की बचत में सहायक 

पर्याप्त मात्रा में कार्बोहाइड्रेट्स ग्रहण करने से यह शरीर में वसा की बचत में सहायक होता है। कार्बोहाइड्रेट वसा के अत्यधिक प्रज्ज्वलन को रोकने में भी सहायक होता है। 

5) पाचन तन्त्र को स्वस्थ बनाना 

सेलुलोस नामक कार्बोहाइड्रेट हमारे शरीर में पाचन तंत्र द्वारा व्यर्थ पदार्थों अर्थात् मल के विसर्जन में सहायक होते हैं। इन कार्बोहाइड्रेट्स का कोई पोषण मूल्य तो नहीं है, परन्तु यह हमारी आँतों की माँसपेशियों की गति की नियमित करते हैं । 

कार्बोहाइड्रेट की कमी या अधिकता से होने वाले विकार

  • कार्बोहाइड्रेट्स की अधिकता से शरीर के वजन में वृद्धि होती है। तथा मोटापे से सम्बंधित रोग होने की सम्भावना बढ़ जाती है । 
  • कार्बोहाइड्रेट्स की कमी होने से शरीर का वजन कम हो जाता है, कार्य करने की क्षमता घट जाती है तथा शरीर मे ऊर्जा उत्पन्न करने हेतु प्रोटीन प्रयुक्त होने लगती है जिससे ‘यकृत एवं नाड़ी संस्थान के क्रियाकलापों में शिथिलता आ जाती है। 
Spread the love

Sneha Katiyar

My name is Sneha Katiyar. I am a student. I like reading books

This Post Has One Comment

Leave a Reply