पौधों में पोषण || Nutrition in Plants in Hindi

पौधों में पोषण (Nutrition in Plants)  पोषण सभी जीवधारियों की मूलभूत विशेषतायें होती है जिसके माध्यम से जीव-जन्तु और पौधे अपने जैविक कार्यों का संचालन करते हैं। पोषण में प्रयुक्त रासायनिक पदार्थ जो कि जीवों की वृद्धि और विकास के लिए आवश्यक है पोषक तत्व कहलाते है। ये पोषक तत्व कार्बनिक अथवा अकार्बनिक दोनों प्रकार के होते है। कार्बनिक पदार्थ कार्बनिक यौगिक दो रूप में सरल अथवा जटिल हो सकते है एवं अकार्बनिक पदार्थ खनिज आयनों…

Continue Readingपौधों में पोषण || Nutrition in Plants in Hindi

राष्ट्रपति निर्वाचन Rashtrapati ka Nirvachan Kaise hota hai

भारत का राष्ट्रपति  भारतीय संविधान के अनुच्छेद 52 के अनुसार, भारत का एक राष्ट्रपति होगा। अनुच्छेद 53 के अनुसार, संघ की कार्यपालिका शक्ति राष्ट्रपति में निहित होगी, जिसका प्रयोग वह स्वयं अथवा अपने अधीन पदाधिकारियों द्वारा करेगा।  भारत की संघीय सरकार का एक महत्वपूर्ण अंग संघीय कार्यपालिका है। इसके अन्तर्गत राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और मन्त्रिपरिषद सम्मिलित होते हैं। राष्ट्रपति संघीय कार्यपालिका का वैधानिक प्रधान होता है। इसका पद अत्यन्त गौरवपूर्ण है। संघ की कार्यपालिका शक्ति राष्ट्रपति में…

Continue Readingराष्ट्रपति निर्वाचन Rashtrapati ka Nirvachan Kaise hota hai

प्रधानमंत्री के कार्य || Pradhan Mantri ke Karya

भारत का प्रधानमंत्री पद्यति एवं महत्ता  भारतीय प्रधानमंत्री के पद को संविधान द्वारा मान्यता प्रदान की गई है। भारतीय प्रशासन में प्रधानमंत्री को बहुत महत्त्वपूर्ण स्थान प्राप्त है। भारतीय संविधान में कार्यपालिका शक्ति राष्ट्रपति में निहित करते हुए कहा गया है कि राष्ट्रपति अपनी समस्त शक्तियों का प्रयोग  मंत्रिपरिषद के परामर्श से करता है। इस प्रकार व्यवहार में सभी कार्यपालिका शक्तियाँ का उपभोग मंत्रिपरिषद के माध्यम से प्रधानमंत्री ही करता है।  भारत के प्रधानमंत्री की नियुक्तियाँ…

Continue Readingप्रधानमंत्री के कार्य || Pradhan Mantri ke Karya

टैक्स कितने प्रकार के होते हैं || Tax Kitne Prakar Ke Hote Hai

टैक्स क्या है? यह एक अनिवार्य अंशदान है जो करदाता को देना होता है। करदाता को टैक्स के बदले में, प्रत्यक्ष लाभ का कोई आश्वासन नहीं दिया जाता है। टैक्स का उपयोग सार्वजनिक हित में किया जाता है।   टैक्स की परिभाषा  टैक्स व्यक्तियों द्वारा वसूल किया जाने वाला अनिवार्य अंशदान हैं, जो सार्वजनिक व्यय को  पूरा करने के लिए लिये जाते हैं और जिसका किसी विशेष लाभ से कोई सम्बन्ध नहीं होता। फिण्डले शिराज के अनुसार अच्छी…

Continue Readingटैक्स कितने प्रकार के होते हैं || Tax Kitne Prakar Ke Hote Hai

कानून कैसे बनता है?|| Kanoon Kaise banta hai?

संसद में कानून-निर्माण की प्रक्रिया  संसद का मुख्य कार्य कानून बनाना है। दोनों सदनों में समान विधायिनी प्रक्रिया की व्यवस्था की गई है। ज़ब  कोई विधेयक किसी सदन में प्रस्तुत किया जाता है तो  संसद में उस विधेयक पर विचार किया जाता है। विचार करने की इस प्रक्रिया को वाचन कहते हैं। किसी भी विधेयक को प्रत्येक सदन में पारित होने के लिए पाँच चरणों से गुज़रना पड़ता है।  प्रस्तुतीकाण तथा प्रथम वाचन किसी भी कानून…

Continue Readingकानून कैसे बनता है?|| Kanoon Kaise banta hai?

राज्यसभा के कार्य एवं अधिकार || Rajya Sabha ke karya

राज्यसभा की रचना  यह सदन संसद का एक स्थायी, द्वितीय तथा उच्च सदन है। इसका कभी विघटन नहीं होता। राज्यसभा में संघ के इकाई राज्यों के प्रतिनिधि होते हैं । राज्यसभा में अधिक-से-अधिक 250 सदस्य हो सकते हैं, जिनमें अधिक-से-अधिक 238 निर्वाचित सदस्य तथा 12 सदस्य राष्ट्रपति द्वारा मनोनीत होते हैं। राष्ट्रपति द्वारा मनोनीत 2 सदस्य साहित्य, विज्ञान, कला तथा समाज-सेवा आदि के क्षेत्र में प्रख्यात व्यक्ति होते हैं। इस समय कुल 245 सदस्य हैं,  जिनमें…

Continue Readingराज्यसभा के कार्य एवं अधिकार || Rajya Sabha ke karya

लोकसभा के कार्य एवं शक्तियाँ || Lok Sabha ke karya

लोकसभा की रचना (संगठन)  संसद का निम्न सदन, प्रथम सदन तथा शक्तिशाली सदन लोकसभा है। जनता का प्रतिनिधि सदन होने के  कारण लोकसभा संसद का महत्वपूर्ण एवं शक्तिशाली अंग है। मूल संविधान में हुए संशोधनों के उपरान्त वर्तमान में यह निश्चित कर दिया गया है कि लोकसभा की अधिकतम सदस्य-संख्या 552 हो सकती है, जिसमें राज्यों के 530 सदस्य, संघ. राज्य क्षेत्रों से 20 सदस्य तथा दो सदस्य राष्ट्रपति द्वारा एँग्लो-इण्डियन समुदाय से मनोनीत किये जो सकते…

Continue Readingलोकसभा के कार्य एवं शक्तियाँ || Lok Sabha ke karya

महात्मा गाँधी || Mahatma Gandhi ka Jivan Parichay

महात्मा गाँधी का जन्म कब और कहाँ हुआ?   महात्मा गाँधी (मोहनदास करमचंद गांधी) का जन्म 2 अक्तूबर 1860 को पोरबंदर में हुआ था। यह छोटा सा नगर भारत के पश्चिमी तट पर स्थित था और काठियावाढ़ के अनेक रजवाड़ों में एक था। इसी को आज गुजरात का सौराष्ट्र क्षेत्र कहा जाता है। महात्मा गाँधी का जन्म करमचंद गाँधी की चौथी पत्नी पुतलीबाई के गर्भ से हुआ। वे अत्यंत धार्मिक, सज्जन और निष्ठावान प्रकृति की थीं, और…

Continue Readingमहात्मा गाँधी || Mahatma Gandhi ka Jivan Parichay

सुभाष चंद्र बोस || Subhash Chandra Bose ki jivani

सुभाष चंद्र बोस जी का संक्षिप्त विवरण नेताजी सुभाष चंद्र बोस का संक्षिप्त विवरण निम्नलिखित है जन्मतिथि- 23 जनवरी जन्मवर्ष-1897 जन्मस्थान-उड़ीसा के कटक में  माता का नाम- प्रभावती देवी  पिता का नाम-जानकी नाथ बोस प्राथमिक शिक्षा- कटक में  उच्च प्राथमिक शिक्षा-रेवेनशा कालेजियट स्कूल  स्नातक-कलकत्ता के स्कॉटिश चर्च कॉलेज  मृत्यु-18 अगस्त 1945 मृत्यु का कारण - विमान दुर्घटना  सुभाष चंद्र बोस का बचपन  नेता जी सुभाष चंद्र बोस का जन्म 23 जनवरी 1897 को उड़ीसा के कटक…

Continue Readingसुभाष चंद्र बोस || Subhash Chandra Bose ki jivani

पौधों में प्रजनन || Reproduction in Plants in Hindi

पौधों में प्रजनन (Reproduction in Plants) प्रत्येक सजीव प्रजनन क्रिया के माध्यम से ही सदृश्य जीव उत्पन्न कर पाते है। इस क्रिया के द्वारा ही वे अपने वंश को बनाये रखते हैं। पौधों में प्रजनन (Reproduction in plants) की विधियों को 2 श्रेणी में बाँट सकते हैं -लैंगिक तथा अलैंगिक जनन। लैंगिक और अलैंगिक जनन के अन्तर को निम्न रूप से समझ सकते हैं।  पौधों के लैंगिक तथा अलैंगिक प्रजनन में अंतर (Difference Between Sexual and…

Continue Readingपौधों में प्रजनन || Reproduction in Plants in Hindi