DPEP (जिला प्राथमिक शिक्षा कार्यक्रम) क्या है, उद्देश्य एवं चरण

जिला प्राथमिक शिक्षा कार्यक्रम (DPEP) क्या है? जिला प्राथमिक शिक्षा कार्यक्रम (DPEP) 1994 में शिक्षा को सर्वसुलभ बनाने के  उद्देश्य से शुरू किया गया । इसके  अन्तर्गत जिला विशेष के अनुसार नियोजन तथा पृथक लक्ष्य निर्धारण के  माध्यम से सभी को शिक्षा दिलाना, स्कूलों में बालकों को बनाए रखना, शिक्षा के  स्तर में सुधार करना एवं समाज के  विभिन्न वर्गों में असमानता कम करके  साथ-साथ काम करना था। 2009 में इसे भी सर्व शिक्षा अभियान के…

Continue ReadingDPEP (जिला प्राथमिक शिक्षा कार्यक्रम) क्या है, उद्देश्य एवं चरण

Kasturba Gandhi Balika Vidyalaya yojna

Kasturba Gandhi Balika Vidyalaya Yojna की शुरुआत कब हुई? राष्ट्रीय शिक्षा नीति, 1968 तथा 1986 में स्त्री शिक्षा के  विकास तथा प्रसार पर विशेष बल दिया गया फलस्वरूप सरकार ने भी इस ओर अपने प्रयास तेज कर दिए। दसवीं पंचवर्षीय योजना में प्राथमिक स्कूलों में लड़कियों के  प्रवेश पर विशेष ध्यान दिया गया । सरकार के सामने ग्रामीण, पिछड़ा वर्ग एवं दुर्गम क्षेत्रों में रहने वाली अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति तथा अल्पसंख्यकों की बालिकाओं के लिए…

Continue ReadingKasturba Gandhi Balika Vidyalaya yojna

Operation Black Board क्या है इसका प्रारम्भ, उद्देश्य,महत्व

ऑपरेशन ब्लैक बोर्ड (OPERATION BLACK BOARD) Operation Black Board की शुरुआत 1987 में की गई इसके अन्तर्गत प्रत्येक विद्यालय में कम से कम दो कमरे, लड़कियों एवं लड़कों के लिए अलग-अलग स्नानगृह तथा शौचालय, स्कूल की चहारदीवारी, अनौपचारिक शैक्षिक केन्द्रों के लिए प्रकाश का प्रबन्ध तथा प्रत्येक कक्षा के लिए एक श्यामपट्ट का प्रावधान किया गया शिक्षण सामग्री के अन्तर्गत पाठ्यक्रम, पाठ्य-पुस्तकें,भारत राज्य एव जिले का मानचित्र, चार्ट, खिलौने, ग्लोब, रेडियो तथा टेपरिकार्डर आदि का प्रावधान किया गया।…

Continue ReadingOperation Black Board क्या है इसका प्रारम्भ, उद्देश्य,महत्व

समावेशी शिक्षा क्या है || Samaveshi shiksha kya hai

समावेशी शिक्षा क्या है?  समावेशी शिक्षा का अर्थ है कि सभी विद्यार्थी को समान शिक्षा देना या प्रदान करना। इस शिक्षा में सभी बच्चों को समान रूप से शिक्षा दी जाती  है। सभी बच्चों से तात्पर्य उनमें से कुछ बच्चे विशिष्ट हो सकते हैं। शारीरिक रूप से विकलांग हो सकते हैं। या किसी शारीरिक कमी से ग्रसित हो सकते हैं। जैसे-सुनाई ना देना, दिखाई ना देना चलने में कठिनाई, मानसिक रूप से विकलांग,या पढ़ने लिखने में कठिनाइ…

Continue Readingसमावेशी शिक्षा क्या है || Samaveshi shiksha kya hai

Maikale ka vivran patra निस्पंदन सिद्धांत, शिक्षा नीति, सुझाव

Maikale ka vivran patra,1835 क्या है? Lord Maikale ने  10 जून, 1834 को भारत के गवर्नर जनरल की काउन्सिल के  कानूनी सलाहकार (कानून-सदस्य) के  रूप में नियुक्त होकर भारत में पदार्पण किया था । तब तक प्राच्य- पाश्यात्य विवाद ने एक बड़ा  रूप ले लिया था और इसका कोई अन्त नजर नहीं आ रहा था। उस समय तत्कालीन गवर्नर जनरल लॉर्ड विलियम बैंटिंक ने मैकाले को बुलाया और उसे बंगाल की लोक शिक्षा समिति का अध्यक्ष नियुक्त करते…

Continue ReadingMaikale ka vivran patra निस्पंदन सिद्धांत, शिक्षा नीति, सुझाव

Mid day meal योजना का प्रारम्भ, उद्देश्य, गुण, दोष

Mid day meal योजना क्या है? इसकी शुरुआत कब हुई – 1990 में विश्व कॉन्फ्रेंस में ‘सबके लिए शिक्षा’ की घोषणा की गई जिससे सभी देशों में प्राथमिक शिक्षा के प्रसार में तेजी आई 1994 ने सरकार ने शैक्षिक रूप से पिछड़े  जिलों के  लिए “जिला प्राथमिक शिक्षा कार्यक्रम’ (DPEP) शुरू किया। 15 अगस्त 1995 को सरकार ने छात्रों को स्कूलों की तरफ आकर्षित करने तथा उन्हें रोक रखने के  लिए "mid-day-meal योजना" शुरू की जिसे…

Continue ReadingMid day meal योजना का प्रारम्भ, उद्देश्य, गुण, दोष

NCF 2005 In Hindi (राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा )

NCF 2005 क्या है? NCF 2005 भारत में राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (NCERT) द्वारा 2005 में प्रकाशित किया गया चौथा राष्ट्रीय पाठ्यक्रम फ्रेमवर्क है। इसका निर्माण मानव संसाधन विकास मंत्रालय की पहल पर प्रोफेसर यशपाल  की अध्यक्षता  में किया गया।   यह पाठ्यचर्या भारत में स्कूलों के लिए पाठ्यक्रम, पाठ्य पुस्तकों और शिक्षण प्रथाओं के लिए एक दिशानिर्देश के रूप में कार्य करता है।  यह एक प्रकार का दस्तावेज है इसमें 5 अध्याय हैं। इस…

Continue ReadingNCF 2005 In Hindi (राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा )